मध्यप्रदेश महिला एवं बाल विकास मीडिया कार्यशाला प्रधान मंत्री मातृत्व वंदना योजना मीडिया कार्यशाला (PMMVY) काम करने वाली महिलाओं की मजदूरी के नुकसान की भरपाई करने के लिए मुआवज़ा देना और उनके उचित आराम और पोषण को सुनिश्चित करना गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के स्वास्थ्य में सुधार और नकदी प्रोत्साहन के माध्यम से अधीन-पोषण के प्रभाव को कम करना योजना के लाभ: इस योजना से गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं को पहले जीवित बच्चे के जन्म के दौरान फायदा होगा योजना की लाभ राशि DBT के माध्यम से लाभार्थी के बैंक खाते में सीधे भेज दी जाएगी। रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार निम्नलिखित किश्तों में राशि का भुगतान करेगी। पहली किस्त 1000 रुपए गर्भावस्था के पंजीकरण के समय दूसरी किस्त 2000 रुपए,यदि लाभार्थी छह महीने की गर्भावस्था के बाद कम से कम एक प्रसवपूर्व जांच कर लेते हैं तीसरी किस्त 2000 रुपए, जब बच्चे का जन्म पंजीकृत हो जाता है और बच्चे को BCG, OPV, DPT और हेपेटाइटिस-B सहित पहले टीके का चक्र शुरू होता है प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना (PMMVY) निम्न श्रेणी के गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए लागू नहीं होगी जो केंद्रीय या राज्य सरकार या किसी सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम के साथ नियमित रोजगार में हैं जो किसी अन्य योजना या कानून के तहत समान लाभ प्राप्तकर्ता हैं।

प्रधान मंत्री मातृत्व वंदना योजना (PMMVY) काम करने वाली महिलाओं की मजदूरी के नुकसान की भरपाई करने के लिए मुआवजा देना और उनके उचित आराम और पोषण को सुनिश्चित करना। गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के स्वास्थ्य में सुधार और नकदी प्रोत्साहन के माध्यम से अधीन-पोषण के प्रभाव को कम करना।योजना के लाभ  इस योजना से गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं को पहले जीवित बच्चे के जन्म के दौरान फायदा होगा। योजना की लाभ राशि DBT के माध्यम से प्रधान मंत्री मातृत्व वंदना योजना (PMMVY) का उद्देश्य काम करने वाली महिलाओं की मजदूरी के नुकसान की भरपाई करने के लिए मुआवजा देना और उनके उचित आराम और पोषण को सुनिश्चित करना। गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के स्वास्थ्य में सुधार और नकदी प्रोत्साहन के माध्यम से अधीन-पोषण के प्रभाव को कम करना योजना के लाभ इस योजना से गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं को पहले जीवित बच्चे के जन्म के दौरान फायदा होगा। योजना की लाभ राशि DBT के माध्यम से लाभार्थी के बैंक खाते में सीधे भेज दी जाएगी। रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार निम्नलिखित किश्तों में राशि का भुगतान करेगी पहली किस्त: 1000 रुपए गर्भावस्था के पंजीकरण के समय दूसरी किस्त: 2000 रुपए,यदि लाभार्थी छह महीने की गर्भावस्था के बाद कम से कम एक प्रसवपूर्व जांच कर लेते हैं  तीसरी किस्त: 2000 रुपए, जब बच्चे का जन्म पंजीकृत हो जाता है और बच्चे को BCG, OPV, DPT और हेपेटाइटिस-B सहित पहले टीके का चक्र शुरू होता है प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना (PMMVY) निम्न श्रेणी के गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए लागू नहीं होगी।1. जो केंद्रीय या राज्य सरकार या किसी सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम के साथ नियमित रोजगार में हैं 2. जो किसी अन्य योजना या कानून के तहत समान लाभ प्राप्तकर्ता हैं।प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना (PMMVY) निम्न श्रेणी के गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए लागू नहीं होगी।1. जो केंद्रीय या राज्य सरकार या किसी सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम के साथ नियमित रोजगार में हैं।2. जो किसी अन्य योजना या कानून के तहत समान लाभ प्राप्तकर्ता हैं।


Popular posts
विदिशा मारपीट के आरोपी की जमानत न्यायालय ने की खारिज
Image
लॉकडाउन के प्रथम दिन से ही शहरी सीमा में गरीब बस्तियों मजदूरों और जरूरतमंदों को लगातार सूखा राशन साबुन मास्क आदि बांटते हुए सुर्खियों में रहे युवा कांग्रेस नेता इंजीनियर संजीव सक्सेना
Image
भोपाल मैत्री पुलिस टीम ने आज दोपहर थाना जहांगीराबाद गर्ल्स स्कूल, सेंट फ्रांसिस स्कूल का भ्रमण कर छात्राओं को जागरूक किया व मार्केट का पैदल भ्रमण किया एवं ऐशबाग क्षेत्र में संस्कार गर्ल्स हॉस्टल में लड़कियों से सुरक्षा हेतु चर्चा की गई। मैत्री 9 द्वारा हबीबगंज थाना क्षेत्र में नूतन कॉलेज, सरोजिनी नायडू हायर सेकंडरी स्कूल का दौरा कर छात्राओं को सुरक्षा के टिप्स दिए गए।
Image
भोपाल थाना बजरिया कुख्यात बदमाश सलमान मय कट्टा के साथ गिरफ़्तार कई मामलों में था फरार
Image
रीवा अवयस्क बालक के साथ अप्राकृतिक कृत्य करने वाले आरोपी की जमानत निरस्त
Image