खजुराहो में बनेगा डायमण्ड म्यूजियम और स्टोन-ग्रेनाइट पार्क

खनिज साधन मंत्री श्री प्रदीप जायसवाल ने खजुराहो में जन-प्रतिनिधियों और संभागीय अधिकारियों के साथ बक्सवाहा में हीरा खदान की नीलामी, खजुराहो में डायमण्ड म्यूजियम तथा छतरपुर जिले में स्टोन-ग्रेनाइट पार्क की स्थापना के बारे में विचार-विमर्श किया। श्री जायसवाल ने अधिकारियों से कहा कि प्रस्तावित कार्य-योजना पर तत्काल काम शुरू करें। छतरपुर जिले में खनिज और पर्यटन विभाग के समन्वित सहयोग से स्थापित होने वाले उद्योगों में अधिकाधिक स्थानीय युवाओं को रोजगार दिलाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन स्थल खजुराहो में हीरा व्यापारियों के आवागमन से पर्यटन के क्षेत्र में भी विकास होगा। खनिज साधन मंत्री ने बताया कि बंदर हीरा परियोजना में नीलामी के जरिये तकनीकी निविदा का निष्पादन इसी माह पूर्ण कर लिया जाएगा। यहाँ से उत्खनित जेम क्वालिटी के हीरों की नीलामी के लिये म्यूजियम में प्रदर्शन आयोजित किया जाएगा।मंत्री श्री प्रदीप जायसवाल ने बताया कि राज्य सरकार के रेत नियम राजपत्र में प्रकाशन के साथ ही प्रभावशील हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि खनिज सम्पदा का अवैध दोहन रोकने और राजस्व में बढ़ोत्तरी करने के लिये चिन्हित अवैध खदानों की नीलामी की जाएगी। इसके साथ ही, छतरपुर जिले में नए खनिज उद्योगों की स्थापना की संभावनाएँ भी तलाशी जाएंगी।बैठक में पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से प्रस्तावित डायमण्ड म्यूजियम और बक्सवाहा बंदर हीरा खदान की नीलामी की रूपरेखा तथा कार्य-योजना की जानकारी दी गई। सचिव, खनिज साधन श्री नरेन्द्र सिंह परमार ने ई-खनिज पोर्टल और प्रस्तावित विभागीय योजना के बारे में बताया।बैठक में विधायक श्री आलोक चतुर्वेदी, श्री नीरज दीक्षित, श्री प्रद्युम्न सिंह लोधी और कुँवर विक्रम सिंह तथा सागर संभाग के वरिष्ठ अधिकारी और जिलों के खनिज अधिकारी उपस्थित थे।


Popular posts
रीवा अवयस्क बालक के साथ अप्राकृतिक कृत्य करने वाले आरोपी की जमानत निरस्त
Image
नई दिल्ली 3 मई तक लाकडाउन बढ़ा  प्रधानमंत्री नरेंद मोदी  का देश के नाम संबोधन पूरा पड़े
Image
विदिशा मारपीट के आरोपी की जमानत न्यायालय ने की खारिज
Image
भोपाल कोरोना संक्रमण की रोकथाम व जागरूकता हेतु मास्क वितरित कर आमजन को किया जागरूक
Image
मध्यप्रदेश के 30 एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों में स्मार्ट कक्ष का निर्माण पूरा हुआ आदिम जाति कल्याण विभाग द्वारा प्रत्येक स्मार्ट कक्ष में 35 कम्प्यूटर और एक मल्टी प्रिन्टर मशीन लगाने के लिये 15 लाख रूपये के मान से कुल 4 करोड़ 80 लाख रूपये की राशि मंजूर की